भूजल संसाधन विभाग

ग्राउंड वॉटर रिसोर्सेज डिविजन, नवंबर, 2012 को अस्तित्व में आया था. पूर्व में इस डिविजन को वॉटर रिसोर्स डिविजन II के नाम से जाना जाता था एवं जल संसाधन गतिविधियों में सम्मिलित था, मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में, जिसके तहत यह उत्तरी उत्तर प्रदेश लगभग सभी राजस्व डिविजनों को एवं कुछ केंद्र यू.पी. के राजस्व डिविजनों को अच्छादित करता है। भूजल अन्वेषण अध्ययन का आयोजन बुंदेलखंड क्षेत्र में किया गया, जिसमे रिमोट सेंसिंग, हाईड्रो जियोलॉजिकल एंव जियो-इलेक्ट्रिकल टेक्नीक की एकीकृत टेक्नीक का इस्तेमाल यूजर डिपार्टमेंट जैसे यू.पी. जल निगम, माइनर इरीगेशन स्टेट ड्यूबवेल कंस्ट्रक्शन डिविजन आदि के लिए किया गया। डिविजन द्वारा उक्त क्षेत्रों या राज्य के अन्य क्षेत्रों में विभिन्न परियोजनाओं का निष्पादित किया गया। भूजल अन्वेषण के अतिरिक्त रिमोट सेंसिंग, जीआईएस, जीपीएस एवं सर्फेस जियोफिजिकल सर्वेक्षण तकनीकों आदि के माध्यम से ग्राउंडवॉटर प्रोस्पेक्ट मैप का सृजन, प्राकृतिक संसाधनों एवं उपयोगिता डाटा बेस को भी डिविजन द्वारा निर्मित किया गया है। विभिन्न एकीकृत अध्ययनों, जब आवश्यक्ता हेतु केंद्र के अन्य डिविजनों की गतिविधियों में भी डिविजन ने सहभागिता दिखाई है। अब नए जनित डिविजन के तौर पर, यह डिविजन मुख्य रूप से भूजल संसाधनों संबंधी अध्ययन में सम्मिलित है, जैसे ग्राउंड वॉटर टारगेटिंग, एक्यूइफायर्स एवं एक्वीफायर मैपिंग की क्षैतिज और ऊर्ध्वाधर ज्यामिति के डेलीनेशन हेतु जियोफिजिकल सर्वेक्षण, भूजल आकलन एवं प्रबंधन के संबंध में अध्ययन एवं भूजल कृत्रिम रिचार्ज एवं वर्षा जल संग्रहण हेतु अध्ययन। आवश्यक्तानुसार भूजल गुणवत्ता अध्ययन का आयोजन, यू.पी. सोडिक लैण्ड रीक्लेमेशन प्रोजेक्ट एण्ड स्टेट वॉटर सेनिटेशन मिशन प्रोजेक्ट। केंद्र में सुव्यवस्थित जल विश्लेषणात्मक प्रयोगशाला भी स्थापित है।

डॉ. एस.रवी प्रकाश

श्री विनीत जे ज्ञानवीर
पदनाम वैज्ञानिक-एसजी एवं जीडब्लूआरडी अध्यक्ष
योग्यता एम.एससी टेक, पी.जी.जी.जी एवं पीएच.डी
विशेषज्ञता रिमोट सेंसिंग एवं जी.आई.एस का इस्तेमाल कर भूजल अन्वेषण, हाईड्रो-जियोलॉजी, भूजल एवं सतही जल गुणवत्ता अध्ययन
अनुभव रिमोट सेंसिंग एवं जी.आई.एस का इस्तेमाल कर रिमोट सेंसिंग, हाईड्रो-जियोलॉजी एवं जी.आई.एस एवं भूजल एवं सतही जल गुणवत्ता की एकीकृत तकनीक का इस्तेमाल कर भूजल अन्वेषण में 28 साल का अनुभव
प्रकाशन 23 शोधपत्रा एवं17 टेक्निकल रिपोर्ट
संपर्क 9415103034, 0522-2730323(Off.) & 8765977650
ई-मेल somayajula2001@yahoo.com

श्री विनीत जे ज्ञानवीर

श्री विनीत जे ज्ञानवीर
पदनाम वैज्ञानिक-एसई
योग्यता एम.एससी (टेक) एक्सप्लोरेशन जियोफिजिक्स
विशेषज्ञता रिमोट सेंसिंग, जियोग्राफिकल इंफॉर्मेशन सिस्टम (जीआईएस) ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम, सर्फेस जियोफिजिकल रेजिस्टीविटी सर्वेक्षण
अनुभव 25 वर्ष
प्रकाशन 2 शोधपत्र एवं  13 टेक्निकल रिपोर्ट
संपर्क 9451144193 & 8765977655
ई-मेल vinitjganvir@gmail.com

श्री अर्जुन सिंह

श्री अर्जुन सिंह
वर्तमान पद वैज्ञानिक-एसडी
योग्यता एम.टेक (अप्लाइड जियोलॉजी)
विशेषज्ञता रिमोट सेंसिंग, जियोग्राफिकल इंफॉर्मेश सिस्टम (जीआईएस) ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम
अनुभव 09 वर्ष
प्रकाशन 01 शोधपत्र एवं 101 टेक्निकल रिपोर्ट
संपर्क 9415788521
ई-मेल arjunrsac@gmail.com
  • ग्राउंड वॉटर टार्गेटिंग
  • रेन वॉटर हार्वेस्टिंग एण्ड आर्टिफिशियल रिचार्ज ऑफ ग्राउंड वॉटर
  • बरौली अहिर ब्लॉक, आगरा जिला एवं मौरानीपुर ब्लॉक, झांसी (2014-15) में पायलेट प्रोजेक्ट जीपीएस आधारित पेयजल जल स्त्रोत की मैपिंग एवं जल गुणवत्ता टेस्टिंग।
  • बुंदेलखंड रीजन (2007-2008) में आकाल के समय उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पोषित सी.आर.एफ.(केलेमिटी रिलीफ प्रोजेक्ट)।
  • राजीव गांधी राष्ट्रीय पेयजल मिशन परियोजना III बी (बुंदेलखंड क्षेत्र) 2009-11 भूजल प्रोस्पेक्ट्स मैप का सृजन।
  • गोरखपुर जोन के 10 जिलों में पेयजल  स्त्रोतों की जीपीएस आधारित मैपिंग एवं जल गुणवत्ता टेस्टिंग (2013-2017)
क्रम संख्या विषय लेखक/वर्ष जर्नल एवं पेजों के नाम
1 ललितपुर जिला, उत्तर प्रदेश के ग्रेनेटिक टेर्रिन में भूजल टार्गेटिंग के कुछ परिणाम डी.मिश्रा अप्रैल, 1986 10 सितंबर 1986 जर्नल एसोसिएशन एक्सप्लोरेशन जियोफिजिक्स वॉल्यूम VII, नंबर 2 पेज 99-108 हिन्दुस्तान टाईम्स, पीटीआई में हाईलाइटेड साइंस सर्विस 9 सितंबर 1986
2 मौरानीपुर क्षेत्र, झांसी जिला, उत्तर प्रदेश के हिस्सों में भूजल संसाधन के विकास हेतु जियो-मॉर्फोलॉजिकल एवं हाईड्रो जियोलॉजिकल में रिमोट सेंसिंग की एप्लीकेशन राजीवा मोहन, डी मिश्रा, ईटी. एएल.Rajiva Mohan,
D. Mishra, et.al.
आईएसआरएस, अहमदाबाद द्वारा आर.एस इन जियोलॉजी पर राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन
3 बुंदेलखंड रीजन, उत्तर प्रदेश के भूजल स्त्रोत हिस्सों का विकास एवं उपयोग हीरा सिंह, डी. मिश्रा मार्च, 1987 मार्च, 87, विज्ञान भवन, नई दिल्ली में भारतीय जल कांग्रेस की कार्यवाही का आयोजन
4 जिला ललितपुर, उत्तर प्रदेश के दक्षिण केंद्रीय हिस्से में भूजल हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियो एल्केट्रिक इंवेस्टीगेशन डी मिश्रा, हीरा सिंह एवं एम.बी.एस.राव, जनवरी 1990 जर्नल एसोसिएशन एक्स्पोलरेशन जियोफिजिक्स वाल्यूम XI, नंबर. 1, पेज 717 -28
5 जिला ललितपुर, उत्तर प्रदेश के दक्षिण केंद्रीय हिस्से में भूजल इंवेस्टीगेशन हेतु रिमोट सेंसिंग एवं रेसिस्टिविटी सर्वेक्षण डी.मिश्रा, जनवरी, 1990 एईजी जर्नल
6 महोबा, हमीरपुर जिला, उत्तर प्रदेश के आसपास भूजल इंवेस्टीगेशन डी.मिश्रा, जनवरी, 1991 एईजी जनर्नल
7 झांसी, उत्तर प्रदेश के आसपास क्रिस्टलाईन में पानी के कुंए के स्थानों हेतु प्रतिरोधकता प्रोफाइलिंग एवं साउंडिंग डी.मिश्रा, डीय 5-7., 1990 एईजी, देहरादून के 16 वार्षिक सम्मेलन
8 रिमोट सेंसिंग तकनीक का इस्तेमाल बांदा शहर के आसपास हाईड्रोजियोमॉर्फिक की पहचान एवं आकलन डी.मिश्रा, 11-12 दिसंबर, 1990 भूजल जांच, लखनऊ पर ऑल इण्डिया सेमिनार
9 झांसी नगर पालिका क्षेत्र, जिला झांसी, उत्तर प्रदेश में भूजल हेतु जियोएलिक्ट्रिकल जांच डी.मिश्रा, एवं एम.बी.एस. राव “हाईड्रोलॉजी” 28-30 अगस्त पर सेमिनार में प्रस्तुत
10 बुंदेलखंड क्षेत्र, उत्तर प्रदेश में क्वार्ट्ज़ रीत एज ए हाईड्रोलॉजिकल फैक्टर-ए केस स्टडी फ्रॉम हार्ड रॉक टेर्रिन राव, एम.बी.एस. मोहन, राजीव एवं मिश्रा, डी. “हाईड्रोलॉजी” पर सम्मेलन में प्रस्तुत 28-30 अगस्त
11 हमीरपुर जिला, उत्तर प्रदेश के हिस्से में ग्राउंड वॉटर एक्स्प्लोरेशन डी.मिश्रा, एवं एम.बी.एस. राव  
12 पाहुज बेसिन बुंदेलखंड रीजन, उत्तर प्रदेश के हिस्सों में हाईड्रोलॉजिकल स्थितियों के आकलन हेतु रिमोट सेंसिंग अध्ययन एम.बी.एस. राव एवं डी.मिश्रा, एईजी सम्मेलन बड़ोदा पर प्रस्तुत
13 दूशन बेसिन, उत्तर प्रदेश के हिस्सों में भूजल इंवेस्टगेशन हेतु रिमोट सेंसिंग अध्ययन एम.बी.एस. राव, पी कुमार एवं डी मिश्रा हाईड्रोलॉजी रुड़की पर राष्ट्रीय सम्मेलन
14 मनिकपुर मारकुंडी क्षेत्र, उत्तर प्रदेश के सेडीमेंटरी रॉक में हाईड्रोजियोलॉजिकल स्थितियों के आकलन हेतु रिमोट सेंसिंग तकनीक डी मिश्रा, एम.बी.एस राव, एवं ए जयराम जकारता, इंडोनेशिया में रिमोट सेंसिंग की एशियन कांफ्रेसं हेतु एब्स्ट्रैकट की स्वीकृति
15 बांदा शहर, उत्तर प्रदेश के आसपास भूजल हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोएलिक्ट्रिकल इंवेस्टीगेशन डी.मिश्रा, एवं एम.बी.एस. राव  
16 बुंदेलखंड क्षेत्र, उत्तर प्रदेश में नगरीय जलापूर्ति हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन डी. मिश्रा एं वीजी. गनवीर यूपी नगरीय क्षेत्र में कंजर्वेशन एण्ड रेग्यूलेशन ऑफ ग्राउंड वॉटर रिसोर्सेज पर राष्ट्रीय सम्मेलन
17 अप्रोच टू डेमाक्रेट पोटेंशियल जोन्स इन हर्राई सब वॉटरशेड, मिर्जापुर डिस्ट्रिक्ट, यू.पी., थ्रू रिमोट सेंसिंग, जियो इलेक्ट्रिकल एण्ड जियोग्राफिकल इंफॉर्मेशन सिस्टम अमरेश कुमार सिंह. एस. रवि प्रकाश एवं देवेंद्र मिश्रा अहमूदाबाद, 2003 में आई.एस.के.एस का आय़ोजन
18 चंद्रप्रभा वॉटरशेड, यूपी के हिस्सों में भूजल पोटेंशियल जोनों के डेलिनिएशन हेतु रिमोट सेंसिंग, जियोएलिक्ट्रिकल एवं जीआईएस तकनीक का एकीकरण अमरेश कुमार सिंह, एस. रवीप्रकाश एवं डी.मिश्रा गोवा एईजी-2000 में प्रस्तुत
19 एकीकृत अध्ययन या रिमोट सेंसिंग, जियोएलिक्ट्रिकल एवं जीआईएस तकनीकों का इस्तेमाल कर बखर सब वॉटरशेड मिर्जापुर एवं सोनभद्र जिला, उत्तर प्रदेश के ऊपरी हिस्से  में ग्राउंड वॉटर पोटेंशियल जोन का डिलीनेशन techniques. अमरेश कुमार सिंह, देवेंद्र मिश्रा, एस.रवीप्रकाश एल.आई.एम राव कानपुर (नवंबर 21-22)उत्तर प्रदेश में आईएसआरएस-2000 में प्रस्तुत
20 बारखा वॉटरशेड, सोनभद्रा जिला, उत्तर प्रदेश, भारत में ग्राउंडवॉटर एक्स्प्लोरेशन हेतु रिमोट सेंसिंग, जीआईएस एवं जियोएलेक्ट्रिकल विधि का एकीकृत अध्ययन या रिमोट सेंसिंग एस. रवीप्रकाश, अमरेश कुमार सिंह, डी.मिश्रा एवं एल.आई.एम राव आईसीओआरजी-2001, हैदराबाद (फरवरी 2-4 आंध्र प्रदेश) में प्रस्तुत
21 रिमोट सेंसिंग एवं जियोएलेक्ट्रिकल टेक्नीक का इस्तेमाल कर सब वॉटरशेड, मिर्जापुर जिला (उत्तर प्रदेश) में हर्राई का ग्राउंडवॉटर अप्रेजल ए.के. सिंह, डी. मिश्रा एवं जे.बी. श्रीवास्तव भुव्नेश्वर, उड़िसा में आईएसआरएस-2000 के राष्ट्रीय सम्मेलन में प्रस्तुत
22 रॉबर्ट्सगंज, जिला सोनभद्र के आसपास क्षेत्र के ग्राउंडवॉटर क्षमता के आकलन हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन की एक संयुक्त रणनीति ए.के. सिंह, पी.कौर एवं डी. मिश्रा आईएसआई के राष्ट्रीय सम्मेलन में प्रस्तुत {एस-1999
23 रिमोट सेंसिंग तकनीक का इस्तेमाल कर लोनी एवं सकारानी कैचमेंट, प्रतापगढ़, वी.पी. के आसपास एवं सॉल्ट प्रभावित क्षेत्रों का अस्थायी आकलन पी.के. किनॉट, आर.खन्ना, ए.के. श्रीवास्तव एवं डी.मिश्रा अक्टूबर में ए.एम.यू. में राष्ट्रीय सम्मेलन में प्रस्तुत
24 पनवाड़ी क्षेत्र, उत्तर प्रदेश में ग्राउंडवॉटर एक्सप्लोरेशन हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल डी. मिश्रा एवं एस.रवी प्रकाश आईएसआरएस 1996 विभागीय रिपोर्ट में प्रस्तुत
25 खरेला क्षेत्र, हमीरपुर जिला, उत्तर प्रदेश, भारत में रीजनल हाईड्रोजियोमॉर्फोलॉजिकल मैपिंग हेतु डिजिटली एनहेन्स्ड आईआरएस-1A एलआईएसएस II डाटा की एप्लीकेशन्स एस.रवि प्रकाश स्त्रोत आकलन में वीडियोग्राफी एवं कलर फोटोग्राफी पर 16वें बायनियल कार्यशाला में प्रस्तुत। आयोजन: एएसपीआरएस द्वारा  अप्रैल 29-मई-1, 1997 वेस्लाको, टेक्सासस यू.एस.ए. में
26 सेटलाइट डाटा का इस्तेमाल कर पनवारी क्षेत्र, हमीरपुर जिला, उत्तर प्रदेश की हाईड्रोमॉर्फोजियोलॉजिकल मैपिंग एस.रवी प्रकाश एवं राजीवा मोहन इंडियन सोसाइटी ऑफ रिमोट सेंसिंग का जर्नल, वॉल्यूम 24, नंबर 2, जून 96
27 पर्वाड़ा क्षेत्र, विशाखापट्नम जिला, आंध्र प्रदेश में केमिकल पैरामीटर द्वारा सॉल्ट वॉटर कन्टेमिनेशन जोन के डेलिनेशन एस.रवी प्रकाश एवं जी.ग्रिश्नन रॉव इण्डियन वॉटर रिसोर्सेज सोसाइटी वॉल्यूम 2 नंबर 2 अप्रैल’ 96 का जर्नल
28 झांसी जिला, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में घरेलू एवं सिंचाई संबंधी प्रयोजनों हेतु भूजल के उपयुक्तता एस. रवी प्रकाश ईटी.एएल. बीएचयू-जल नेवस, मार्च’ 95
29 परावाड़ा क्षेत्र, विशाखापटनम जिला, आंध्र प्रदेश के भूजल की गुणवत्ता एस. रवी प्रकाश एवं जी.कृष्णा राव भूजल नेवस, जून’ 94
30 रिमोट सेंसिंग तकनीक का इस्तेमाल कर बेतवा वॉटरशेड जानौन जिला के बाएं तट में लैण्ड एवं जल संसाधनों के सतत विकास हेतु इंटीग्रेटेड अप्रोच। एस.रवी प्रकाश ईटी.एएल मार्च 2000 में भुव्नेश्वर में आईएसआरएस सम्मेलन में प्रस्तुत
31 चंद्र प्रभा वॉटरशेड, यू.पी. हिस्सों में ग्राउंडवाटर पोटेंशियल जोन के डेलीनेशन हेतु रिमोट सेंसिंग, जियो-एलेक्ट्रिकल एवं जीआईएस तकनीक का एकीकरण एस. रवी प्रकाश ईटी.एएल गोवा, 8-10 नवंबर, 2000 को गोवा में एक्स्प्लोरेशन जियोफिज़िस्ट्स सिम्पोजियम के एसोसिएशन में प्रस्तुत
32 रिमोट सेंसिंग, जियो-एलेक्ट्रिकल एवं जीआईएस तकनीकों का एकीकृत अध्ययन का इस्तेमाल कर बखर वॉटरशेड, मिर्जापुर एवं सोनभद्र जिला, उत्तर प्रदेश में भूजल क्षमता का डेलिनेशन एस.रवी प्रकाश ईटी एएल आईआईटी, कानपुर में 21-22 नवंबर, 2000 में नैचुरल हजार्ड मैनेजमेंट, आईएसआरएस हेतु स्पाटियल टेक्नोलॉजीज़ पर वार्षिक सम्मेलन और संगोष्ठी में प्रस्तुत
33 रिमोट सेंसिंग, जियो-एलेक्ट्रिकल एवं जीआईएस. का इस्तेमाल कर चंद्रप्रभा सब-वॉटर शेड, उत्तर प्रदेश का ग्राउंड वॉटर पोटेंशियल मॉडलिंग। मैप इंडिया, 2002 की पांचवें वार्षिक कांफ्रेंस में प्रस्तुत। अमरेश कुमार सिंह, एस. रवी प्रकाश, डी.मिश्रा एवं समरेंद्र सिंह -
34 मैनपुरी जिला, उत्तर प्रदेश के ग्राउंड वॉटर रिसोर्सेज एस्टीमेशन एण्ड वॉटर लेवल ट्रेंड एनालिसिस इन (1995 से 2000) सोडिक लैण्ड रीक्लेमेशन एरियाज एस. रवी प्रकाश, नुरुल हसन एवं आलोक माथुर ईटी.एएल यू.पी.सी.ए. द्वारा 2004 में भारत में आयोजित प्रेजेंटेड इन इंटरनेशनल कांफ्रेंस ऑन सस्टेनेबल मैनेजमेंट ऑफ सोडिक लैण्ड्स
35 गेंगेटिक प्लेन्स, उत्तर प्रदेश, भारत के हिस्सों में सोडिक लैण्ड में सिंचाई प्रयोजन हेतु भूजल गुणवत्ता के विस्तृत आकलन नुरुल हसन, एस.रवी प्रकाश, समरेंद्र सिंह, अली हुसैन, प्रियकान्त एवं रंजन सिंह भारत में 2004 में यू.पी.सी.ए.आर द्वारा आयोजित सोडिक लैण्ड्स के सतत विकास पर अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस में प्रस्तुत
36 हरदोई एवं रायबरेली जिला, उत्तर प्रदेश, भारत के हिस्सों में सोडिक लैण्ड रीक्लेमेशन के कारण भूजल की स्वायल प्रोफाईल के माध्यम से सॉल्ट का ऊर्ध्वाधर आंदोलन अली हुसैन, एस.रवी प्रकाश, अलोक माथुर, नूरल हसन, समरेंद्र सिंह, अरविंद माथुर एवं एल.आई.एम.राव यू.पी.सी.ए.आर द्वारा 2004 में भारत में सस्टेनेबल मैनेजमेंट ऑफ सोडिक लैण्ड्स पर अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस में प्रस्तुत।
37 उत्तर प्रदेश में सोडिक लैण्ड्स की रीक्लेमेशन के कारण भूजल गुणवत्ता में अस्थायी परिवर्तन एस.रवी प्रकाश, रंजन सिंह, अरविन्द माथुर, अली हुसैन एवं नूरुल हसन यू.पी.सी.ए.आर. द्वारा 2004 में भारत में आयोजित सस्टेनेबल मैनेजमेंट ऑफ सोडिक लैण्ड्स पर अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस में प्रस्तुत
38 स्पाटियल एण्ड टेम्परल वैरिएशन्स इन ग्राउंड वॉटर लेवर-जिला मैनपुरी, उत्तर प्रदेश, भारत के हिस्सों का जीआईएस आधारित अध्ययन एल.आई.एम.राव, प्रियाकांत, नुरूल हसन, डी.के. शर्मा एवं एस.रवी प्रकाश यू.पी.सी.ए.आर द्वारा 2004 में भारत में सस्टेनेबल मैनेजमेंट ऑफ सोडिक लैण्ड्स पर राष्ट्रीय कांफ्रेंस में प्रस्तुत
39 गोरल ब्लॉक, जिला सोनभद्र, उत्तर प्रदेश, भारत में भूजल क्षमता जोन की पहचानहेतु जीआईएस द्वारा थीमेटिक मैप्स का एकीकरण
.
अमरेश कुमार सिंह, एवं एस.रवी प्रकाश, डी.मिश्रा एवं वी.जे. गनवीर गोवा, भारत में आयोजित आई.एस.आर.एस में प्रस्तुत।
40 रिमोट सेंसिंग द्वारा हर्राई सब-वॉटरशेड, मिर्जापुर जिला, उत्तर प्रदेश में डेमीक्रेट भूजल क्षमता जोन हेतु अप्रोच। जियोएलेक्ट्रिकल एवं जियोग्राफिकल इंफॉर्मेशन सिस्टम अमरेश कुमार सिंह, एस. रवी प्रकाश एवं देवेंद्र मिश्रा अहमदाबाद, भारत में 2003 में आई.एस.आर.एस सम्मेलन में प्रस्तुत
41 मिर्जापुर जिले, उत्तर प्रदेश, भारत के सिटी ब्लॉक में रिमोट सेंसिंग, जियोएलेक्ट्रिकल एवं जी.आई.एस. तकनीक के द्वारा भूजल क्षमता जोन के डेलीनेशन हेतु एकीकृत अप्रोच अमरेश कुमार सिंह एवं एस. रवी प्रकाश हैदराबाद, भारत में 2002 में संसाधनों एवं पर्यावरणीय अनुश्रवण की अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में प्रस्तुत
42 रिमोट सेंसिंग एवं जियो-एलेक्ट्रिकल टेक्नीक्स का इस्तेमाल कर ओझाला सब वॉटरशेड, मिर्जापुर जिला, उत्तर प्रेदश में भूजल क्षमता जोन का वर्णन अमरीश कुमार सिंह एवं एस.रवी प्रकाश विशाखापटनम, भारत, 2003 में ऑल इण्डिया सम्मेलन का आयोजन में प्रस्तुत
43 रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जियोग्राफिकल इंफॉर्मेशन सिस्टम तकनीकों के एकीकरण के माध्यम से मरीहन ब्लॉक मिर्जापुर जिला (उत्तर प्रदेश), के भूजल क्षमता का मूल्यांकन को अप्रोच अमरेश कुमार सिंह एवं एस.रवी प्रकाश 2003, तिरुवनंतपुरम में रिसोर्स मैनेजमेंट विद स्पेशल रिफरेंस टू जियो-इंफॉर्मेटिक्स एण्ड डीसेंट्रलाइज्ड प्लानिंग आईएसपीआरएसडब्लूजीVII 13 पर राष्ट्रीय सम्मेलन, इंडीग्रेटेड मॉनिटरिंग सिस्टम्स एण्ड आईएसआरएस एनुअल कन्वेन्श पर कार्यशाला में प्रस्तुत
44 ओझाला सब-वॉटर शेड, मिर्जापुर जिला, उत्तर प्रदेश, भारत के भूजल क्षमता के मूल्यांकन हेतु रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिक्स एवं जीआईएस का एकीकृत अमरीश कुमार सिंह एवं एस. रवी प्रकाश मैप इण्डिया सम्मेलन में प्रस्तुत, 26-31, जनवरी, 2003
45 बरखा वॉटर शेड, सोनभद्र जिला, उत्तर प्रदेश, भारत हेतु रिमोट सेंसिंग, जीआईएस एवं जियोएल्ट्रिकल का एकीकृत अध्ययन एस.रवी प्रकाश, अमरेश कुमार सिंह, डी.मिश्रा एवं एल.आई.एम राव हैदराबाद, 2001 में आयोजित स्पाटियल इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी रिमोट सेंसिंग एण्ड जियोग्राफिकल इंफॉर्मेशन सिस्टम्स पर आईसीओआरजी सम्मेलन
46 भूजल क्षमता जोन की पहचान हेतु जीआईएस के माध्यम से थीमेटिक मैप्स का एकीकरण अमरेश कुमार सिंह एवं एस. रवी प्रकाश नई दिल्ली, 28-31 जनवरी, 2004 में आयोजित मैप इंडिया इंटरनेशनल कार्यशाला_2004
47 टेर्रा-1 एमओडीआईएस डाटा का इस्तेमाल कर सर-सर्फेस वॉटर लॉगिंग की पहचान के.श्रीनिवास, आर.एस. द्विवेदी, ए.एन.सिंह, एस.रवी प्रकाश इंडियन सोसाइटी रिमोट सेंसिंग के जर्नल का प्रकाशन (मार्च, 2010) 38: 119-132.
48 जिला हमीरपुर(उत्तर प्रदेश) भारत के करकोरम नाला वॉटरशेड में ग्राउंड वॉटर प्रोस्पेक्ट के ऑप्टिकल एवं माईक्रोवेव रिमोट सेंसिंग एवं जीआईएस तकनीक आधारित अध्ययन   आई.आई.टी, कानपुर में प्रस्तुत
  • रिमोट सेंसिंग एवं सर्फेस जियोफिजिकल विधि का इस्तेमाल कर कानपुर जिले में भूजल जांच पर रिपोर्ट।
  • रिमोट सेंसिंग एवं सर्फेस जियोफिजिकल विधि का इस्तेमाल कर नोएडा जिले में भूजल जांच पर रिपोर्ट।
  • सोनभद्रा  जिला, उत्तर प्रदेश में भूजल हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन।
  • मिर्जापुर जिला, उत्तर प्रदेश में भूजल हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन।
  • गेल कॉम्प्लेक्स, पट्टा, इटावा में ड्रिलिंग हेतु उपयुक्त साइट को चिन्हित हेतु जियोफिजिकल प्रतिरोधकता सर्वेक्षण पर रिपोर्ट।
  • एनसीएएफआर, ग्वालियर रोड, झांसी में भूजल विस्तारण एवं कृत्रिम रिचार्ज हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन पर रिपोर्ट।
  • झांसी किला क्षेत्र में भूजल के कृत्रिम रिचार्ज हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन पर रिपोर्ट।
  • पावा गांव, ललितपुर के ग्राम विकास हेतु स्पेस तकनीक के इस्तेमाल पर रिपोर्ट।
  • ग्रामीण जलापूर्ति, गांव मोहारा, जिला ललितपुर हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन पर रिपोर्ट (स्त्रोत एवं प्रबंधन सोर्स फाइंडिंग, स्थिरता)।
  • भू एवं जल संसाधन विकास, ब्लॉक-ताबेहत, जिला ललितपुर हेतु रिमोट सेंसिंग अध्ययन।
  • रिमोट सेंसिंग एवं जीआईएस तकनीकों का इस्तेमाल कर बलेन नदी (बरखा) वॉटरशेड, सोनभद्र जिला, उत्तर प्रदेश का भू एवं सतही जल अध्ययन।
  • रिमोट सेंसिंग का इस्तेमाल कर प्रतापगढ़ जिला में वॉटर बॉडीज़, रिवर/स्ट्रीम का अनुश्रवण।
  • झांसी, चित्रकूट, इलाहाबाद, विंध्यांचल एवं वाराणसी डिविजनों के हार्ड रॉक क्षेत्रों में कानपुर, फैजाबाद, आजमगढ़, गोरखपुर, बस्ती एवं देवीपाटन आयोग, उत्तर प्रदेश, बिजनौर जिला एवं पश्चिमी यूपी में नोएडा के जलोढ़ क्षेत्रों में ग्राउंडवॉटर टार्गेटिंग।
  • बुंदेलखंड क्षेत्र (स्त्रोत: फाइंडिंग, स्टेबिलिटी के स्त्रोत एवं प्रबंधन) में नगरीय एवं ग्रामीण जलापूर्ति योजनाओं हेतु रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन।
  • जिला कानपुर एवं गेल कॉम्प्लेक्स, पट्टा, इटावा में क्लेयय/ब्रेकिश वॉटर बियरिंग जोन के वर्णन हेतु गहन प्रतिरोधक सर्वेक्षण।
  • द्वारहट (जिला अलमोड़ा) जल आपूर्ति योजना हेतु जल स्त्रोत अध्ययन।
  • सोनभद्र जिला, उत्तर प्रदेश के भूजल स्त्रोत का आकलन।
  • रिमोट सेंसिंग तकनीक (यूपीएलडीसी हेतु) का इस्तेमाल कर जिला प्रतापगढ़ में सर्फेस वॉटर बॉडीज रिवर/स्ट्रीम एवं फ्लडिंग पैटर्न अध्ययन का अनुश्रवण।
  • इलाहाबाद, जानौन एवं झांसी, हमीरपुर, बांदा, बलिया एवं बहराइच जिलों में हाईड्रोजियोमॉर्फोलॉजिकल, ड्रेनेज, सर्फेस वॉटर बॉडीज़ मैपिंग एवं आईएमएसडी परियोजना के अंतर्गत जल संसाधन एक्शन प्लान का सृजन।
  • हरदोई जिला में सण्डीला तेहसील में बॉयो-डायवर्सिटी से संबंधित प्रयोगात्मक अध्ययन।
  • 2005 में उत्तर प्रदेश सरकार को जमा रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस की एकीकृत तकनीकों के माध्यम से पहारी ब्लॉक, चित्रकूट जिला, उत्तर प्रदेश में वॉटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर हेतु उपयुक्त स्थानों का वर्णन।
  • उत्तरी उत्तर प्रदेश की जल गुणवत्ता पर सूगूर उद्योगों का प्रभावी आकलन। 2004 में एमओईएफ भारत सरकार को जमा।
  • बहराईच एवं नागपुर के भूमि, जल एवं संबंधित पहलुओं हेतु बेस लाइन डाटा जनरेशन (वॉटर सेक्टर रीस्ट्रक्चरिंग प्रोजेक्ट के अंतर्गत परियोजना का निष्पादन किया गया)

अंतिम रिपोर्ट सिंचाई विभाग, उत्तर प्रदेश को जमा करी गई।

  • उत्तर प्रदेश के सोडिक भूमि सुधार क्षेत्रों में भूजल गुणवत्ता एवं भूजल स्तर भिन्नताओं पर वार्षिक रिपोर्टों को 2002 से 2005 तक तैयार किया जा रहा है एवं उत्तर प्रदेश भूमि सुधार निगम लिमिटेड को जमा कराया गया है।
  • सोडिक भूमि सुधार के कारण भूजल स्तर, भूजल गुणवत्ता एवं सतही जल गुणवत्ता में अस्थायी भिन्नताओं पर आई.सी.आर अंतिम रिपोर्ट, 2006 में यू.पी.बी.एस.एन के माध्यम से विश्व बैंक को जमा।
  • हण्डिया तेहसील, इलाहाबाद जिला, उत्तर प्रदेश में रिमोट सेंसिंग एवं हाईड्रोजियोलॉजिकल तकनीकों का इस्तेमाल कर कृत्रिम भूजल रिचार्ज हेतु उपयुक्त जोन की मैपिंग। मार्च 1998 में केंद्र को जमा।
  • अलमोड़ा जिला, उत्तर प्रदेश के हिस्सों में जल संसाधन अध्ययन एवं ड्रिलिंग सुपरविजन। 1995 में प्रोग्राम सपोर्ट यूनिट, द रॉयल एंबेसी को रिपोर्ट जमा।
  • यूपीएलडीसी लखनऊ को रिमोट सेंसिंग एवं जियोफिजिकल अध्ययन का इस्तेमाल कर खागा एवं थेहरॉयन तेहसील, फतेहपुर जिला, उत्तर प्रदेश में भूजल क्षमता साइट के वर्णन की रिपोर्ट जमा।
  • Selection of suitable locations and methods for Rain Water Harvesting and Ground Water Recharge (Artificial) in Vikas Khand-Maal, district-Lucknow by Integrated Study of Remote Sensing, Geophysical survey and Geographic Informatics System. (2008)
  • इलाहाबाद जिला, उत्तर प्रदेश के मेजा एवं कर्चाना तहसील में जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज हेतु उपयुक्त साइटों चयन करने हेतु रिमोट सेंसिंग, जियो-फिजिकल एवं जीआईएस की एकीकृत तकनीकों का इस्तेमाल। (सुधार के तहत ड्राफ्ट की रिपोर्ट करें)।
  • 2011 एवं 2012 से उत्तर प्रदेश में सोडिक भूमि सुधार क्षेत्रों में सतही जल गुणवत्ता भिन्नता पर वार्षिक रिपोर्ट को तैयार किया गया एवं उत्तर प्रदेश भूमि सुधार निगम लिमिटेड को जमा।
  • गोरखपुर जिला एवं महाराजगंज जिला, उत्तर प्रदेश में ट्रेस एलीमेंट एवं हेवी मेटल को विशेष संदर्भ के साथ पेय एवं सिंचाई उद्देश्यों के संदर्भों के साथ भूजल गुणवत्ता की मौजूदा स्थिति का आकलन। एम.ओ.ई.एफ. भारत सरकार, नई दिल्ली, 2013 को जमा।

विभागीय तकनीकी रिपोर्ट (वर्षा जल संचयन परियोजना)

  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु चरखारी ब्लॉक, जिला महोबा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल। (वर्ष 2017-18)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बाहादुरपुर ब्लॉक, जिला इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल। (2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु चका ब्लॉक, जिला इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल। (2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु धूनपुर ब्लॉक, जिला इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बाबा बेलखरनाथ धाम ब्लॉक, जिला प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)।
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु लालगंजझारा ब्लॉक, जिला प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएसतकनीक का इस्तेमाल। (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम स्ट्रक्चर के चयन हेतु मंध्यथा ब्लॉक, जिला प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल। (वर्ष 2016-17)।
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु देवबंद ब्लॉक, जिला सहारनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल। (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु गनगोह ब्लॉक, जिला सहारनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु नाकुर ब्लॉक, जिला सहारनपुर, यू.पी. के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु भोजपुर ब्लॉक, जिला गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)।
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु राजापुर ब्लॉक, जिला गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल। (वर्ष 2016-17)।
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर का चयन हेतु कड़वी ब्लॉक, जिला चित्रकूट, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल। (वर्ष 2016-17)।
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु अराजालीन ब्लॉक, जिला वाराणसी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु हरुहा ब्लॉक, जिला वाराणसी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु पिंडारा ब्लॉक, जिला वाराणसी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु गाजीपुर ब्लॉक, जिला गाजीपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मोहम्मदाबाद ब्लॉक, जिला गाजीपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2016-17)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु फिरोजाबाद ब्लॉक, जिला फिरोजाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु जैतपुर ब्लॉक, जिला महोबा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमास (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बलियाखेड़ी ब्लॉक, जिला सहारनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मुजफ्फराबाद ब्लॉक, जिला सहारनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु नागल ब्लॉक, जिला सहारनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु पुवारका ब्लॉक, जिला सहारनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु सरेनी ब्लॉक, जिला रायबरेली, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु सिकरोनी ब्लॉक, जिला जौनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु अमौली ब्लॉक, जिला फतेहपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु हसवा ब्लॉक, जिला फतेहपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु पुवारका ब्लॉक, जिला सहारनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु हाथगवां ब्लॉक, जिला फतेहपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मालवा ब्लॉक, जिला फतेहपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2015-16)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु अमरोहा ब्लॉक, जिला जे.पी.नगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु नूरपुर ब्लॉक, जिला बिजनौर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु स्योहारा ब्लॉक, जिला बिजनौर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बघारा ब्लॉक, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बुधाना ब्लॉक, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बलदेव ब्लॉक, जिला मथुरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु नौहझील ब्लॉक, जिला मथुरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु राया ब्लॉक, जिला मथुरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु रामनगर ब्लॉक, जिला चित्रकूट, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मोहनलालगंज ब्लॉक, जिला लखनऊ, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मलिहाबाद ब्लॉक, जिला लखनऊ, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मलिहाबाद ब्लॉक, जिला लखनऊ, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु लखनऊ शहर ब्लॉक, जिला लखनऊ, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु अकोला ब्लॉक, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2014-15)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बरोलीअहिर ब्लॉक, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बिचपुरी ब्लॉक, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु फतेहपुरसीकरी ब्लॉक, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु खण्डौली ब्लॉक, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु समसाबाद ब्लॉक, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु सैया ब्लॉक, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मेराहरा ब्लॉक, जिला एटा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु जोया ब्लॉक, जिला आगरा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु घनौरा ब्लॉक, जिला जे.पी.नगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु तालग्राम ब्लॉक, जिला कन्नौज, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बांगरा ब्लॉक, जिला झांसी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु कबराई ब्लॉक, जिला महोबा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु पनवारी ब्लॉक, जिला महोबा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मैनपुरी ब्लॉक, जिला मैनपुरी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु वर्नावल ब्लॉक, जिला मैनपुरी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2013-14)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मंझनपुर ब्लॉक, जिला कौशाम्बी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु करहा ब्लॉक, जिला कौशाम्बी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मूरतगंज ब्लॉक, जिला कौशाम्बी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु गुलाथ्वी ब्लॉक, जिला बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु खुर्जा ब्लॉक, जिला बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु पहासू ब्लॉक, जिला बुलंदशहर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मौरानीपुर ब्लॉक, जिला झांसी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु टिंडवारी ब्लॉक, जिला बांदा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु नरखी ब्लॉक, जिला फिरोजाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु टुंडला ब्लॉक, जिला फिरोजाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु इक्का ब्लॉक, जिला फिरोजाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु अरॉन् ब्लॉक, जिला फिरोजाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बौक्सा ब्लॉक, जिला जौनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु कर्नजकाला ब्लॉक, जिला जौनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बदलापुर ब्लॉक, जिला जौनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु सैण्डवाचंद्रिका ब्लॉक, जिला प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु प्रतापगढ़सदर ब्लॉक, जिला प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु शिवगढ़ ब्लॉक, जिला प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु पवंसा ब्लॉक, जिला मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बनियाकेरा ब्लॉक, जिला मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2012-13)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु चमरऊ ब्लॉक, जिला रामपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु चैल ब्लॉक, जिला कौशाम्बी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु सिराथू ब्लॉक, जिला कौशाम्बी, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु उन ब्लॉक, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु शामली ब्लॉक, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु कैराना ब्लॉक, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु शाहपुर ब्लॉक, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु हापुड़ ब्लॉक, जिला गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु लोनी ब्लॉक, जिला गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु पलहानी ब्लॉक, जिला आजमगढ़, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु रानी किसरई ब्लॉक, जिला आजमगढ़, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बर्ऱिया ब्लॉक, जिला बलिया, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु मोहम्मदाबाद गोहना ब्लॉक, जिला मऊ, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु सुकरौली ब्लॉक, जिला कुशीनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु कासिया ब्लॉक, जिला कुशीनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु केराकट ब्लॉक, जिला जौनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु जलालपुर ब्लॉक, जिला जौनपुर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु पदरीकृपाल ब्लॉक, जिला गोण्डा, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु दिंगारपुर ब्लॉक, जिला मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु कासिया ब्लॉक, जिला कुशीनगर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु बहजोई ब्लॉक, जिला मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु कीरतपुर ब्लॉक, जिला बिजनौर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)
  • वर्षा जल संचयन एवं कृत्रिम रिचार्ज स्ट्रक्चर के चयन हेतु जलीलापुर ब्लॉक, जिला बिजनौर, उत्तर प्रदेश के एकीकृत अध्ययन के माध्यम से रिमोट सेंसिंग, जियोफिजिकल एवं जीआईएस तकनीक का इस्तेमाल (वर्ष 2011-12)